Lalbaug cha Raja

lalbaugcha raja

लालबाग के राजा, गणेश सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पुरे विश्व में सबसे प्रसिद्द गणेश प्रतिमा है। लालबाग 1934 में स्थापित किया गया था, और तभी से यहाँ गणेश चतुर्थी के अवसर पर गणेश भक्तों की भिड़ उमड़ रही है।

और सिर्फ उमड़ ही नहीं हर वर्ष यहाँ आने वालों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की जाती रही है। 1935 से कांबली आर्ट्स का कांबली परिवार लालबाग के राजा की मूर्ति बना रहा है और इसकी पौराणिक डिजाइन अब पेटेंट-संरक्षित है। गणेश चतुर्थी के 10 दिनों में औसतन 15 लाख लोग हर दिन लालबाग के राजा के दर्शन करने पहुँचते हैं। यहाँ आने वाले सभी भक्तों मानना है की लालबाग के राजा, गणेश उनकी इच्छाओं को पूरा करेंगे, सभी न्यूज़ पेपर और टीवी चैनल लालबाग के राजा का बराबर कवरेज देते हैं।

लालबाग के राजा के दर्शन के लिए 2 लाइन होती है एक सामान्य मुख दर्शन रेखा और विशेष नव चरन दर्शन दर्शन जो लोग व्रत करना चाहते हैं या मनोकामना पूरी करते हैं (नवस) और मूर्ति के चरण स्पर्श करते हैं। नव दर्शन लाइन भक्तों को मूर्ति के पैरों के ठीक सामने ले जाती है, जबकि मुख दर्शन रेखा लगभग 10 मीटर की दूरी से दर्शन (दर्शन) प्रदान करती है। लालबाग के राजा के दर्शन करने की लिए फ़िल्मी हस्तियां, बड़े व्यापारी, खेल जगत के सितारे, नेता सभी लोग आते हैं।

lalbaugcha raja

Check Also

Lingashtakam Stotram

Lingashtakam Stotram Lingashtakam Stotram ब्रह्ममुरारि सुरार्चित लिङ्गं निर्मलभासित शोभित लिङ्गम् ।जन्मज दुःख विनाशक लिङ्गं तत्-प्रणमामि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *