Monday, February 6, 2023
HomeDigital Marketingनई वेबसाइट के लिए Simple SEO Tips

नई वेबसाइट के लिए Simple SEO Tips

आपकी नई वेबसाइट के लिए सरल SEO टिप्स

जब भी आप कोई नई वेबसाइट बनाते है तो शुरुआती SEO काफी महत्वपूर्ण और चुनौतीपूर्ण होता है।

इसलिए आज मै आपको ऐसी 19 सरल टिप्स देने वाला हूँ जिससे आपका शुरुआती SEO अत्यंत आसान होगा।

 

1: keywords research हेतु Ubersuggest का उपयोग करें

अपनी वेबसाइट से सबंधित सटीक कीवर्ड्स ढूंढने हेतु इस अत्यंत उपयोगी FREE  टूल का उपयोग अवश्य करें।

Ubersuggest न केवल आपको सम्बंधित कीवर्ड बताएगा परन्तु उन कीवर्ड्स से सम्बंधित सारी उपयोगी जानकारी जो है वह भी बताएगा, जैसे की सर्च वॉल्यूम (search volume), डिफीकल्टी स्कोर (Difficulty score), रिलेटेड कीवर्ड्स (related keywords) इत्यादि।

 

2: अपने ईमेल एकाउंट्स हेतु G-Suite का उपयोग करें

वेबसाइट डोमेन को G-Suite से कनेक्ट कर गूगल के सारे फीचर्स का उपयोग अपने स्वयं के ईमेल के साथ करें। yourwebsite@gmail.com के बजाय yourname@yourwebsite.com का उपयोग कर आप ज्यादा प्रोफेशनल दिखेंगे।

3: गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console) को सेटअप करें 

आप अपने G-Suite ईमेल का उपयोग करके गूगल सर्च कंसोल को सेट उप कर सकते है।सर्च कंसोल में आपको अपनी वेबसाइट को गूगल में सही तरीके से इंडेक्स करने के लिए काफी टूल्स उपलब्ध है जैसे गूगल साइटमैप सबमिशन (sitemap submission), वेबसाइट वेरिफिकेशन (website verification), बैकलिंक  डिटेक्शन (Backlink Detection), सर्च query इत्यादि।

4: गूगल एनालिटिक्स (Google Analytics) का सेटअप करें

अपने वेबसाइट के ट्रैफिक सबंधित सारी उपयोगी जानकारी को देखने एवं विश्लेषण करने हेतु गूगल एनालिटिक्स एक बहुपयोगी टूल है। आप अपने G-Suite ईमेल के माध्यम से इसका फ्री में सेटअप एवं उपयोग कर सकते है।

5: लोकल स्कीमा मार्कअप (Local Schema Markup)

अगर आप एक लोकल बिज़नेस है तो आपको Schema Markup Structured Data Testing Tool की सहायता से अपने वेब पेज पर प्रॉडक्स्ट, रीव्यूज, एड्रेस इत्यादि को मार्क करना है जो गूगल लोकल इंडेक्सिंग हेतु अत्यंत महत्वपूर्ण है। Schema Markup की वजह से गूगल को आपके पेज से सम्बंधित आवश्यक जानकारी प्राप्त होती है।

6: गूगल पेज स्पीड इनसाइट्स (Google Page Speed Insights)

गूगल ने  २०१८ में यह स्पष्ट कर दिया है कि आपकी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड रैंकिंग के लिए काफी महत्वपूर्ण है। Google Page Speed Insights की सहायता से आप अपने वेबसाइट की स्पीड एवं मोबाइल कम्पेटिबिलिटी (Mobile Compatibility) टेस्ट कर उसे सुधार सकते है।

7: कीवर्ड रिसर्च हेतु Answerthepublic.com का उपयोग 

साधारण कीवर्ड रिसर्च से आपको वही सब कीवर्ड्स प्राप्त होंगे जो हर किसी को उपलब्ध है। इन कीवर्ड्स से आप नया कंटेंट नहीं लिख सकते। Answerthepublic.com एक ऐसी वेबसाइट है जो आपको यूसर्स क्या  सर्च रहे है उस बारें में एक अलग नजरिया देती है। कई बार आपको ऐसे कीवर्ड्स प्राप्त होंगे जिसके बारे में आपने कभी सोचा भी नहीं होगा।

8: Exact Match Domain (EMD) खरीदें 

मान लीजिए कि आपके बिज़नेस का नाम New Delhi Painters है तो आपको NewDelhiPainters.com जैसा डोमेन खरीदना चाहिए क्योंकि यह एक सर्च कीवर्ड भी है। इसका फ़ायदा यह है कि जब भी यूसर्स New Delhi Painters, इस कीवर्ड को गूगल में डालेंगे आपकी वेबसाइट को प्राथमिकता मिलेगी।

9 : Partial Match Domain (PMD) खरीदें

अगर Exact Match Domain उपलब्ध ना हो तो, Partial Match Domain खरीदें। उदाहरण के लिए अगर NewDelhiPainters.com उपलब्ध ना हो तो NewDelhiPainting.com या NewDelhiPaintingServices.com बुक कर भी सर्च रैंकिंग में फ़ायदा उठा सकते है। ध्यान रहे अगर आप ब्रांड बिल्डिंग कर रहे है तो इस तरीके का उपयोग ना करे ।

10:  टाइटल टैग को ऑप्टिमाइज़ करें 

आपके url के बाद सबसे महत्वपूर्ण आपके पेज का टाइटल है। अगर आपका टाइटल boring है एवं यूसर को वेबसाइट पर जाने के लिए प्रेरित नहीं करता तो आपको उस पर काम करना अति आवश्यक है। अपने टाइटल टैग में सोशल प्रूफ (social proof) अथवा कॉल टू एक्शन (call to action) अवश्य डालें।

उदाहरण के लिए अगर आपके पास ५०० यूसर्स के रिव्यु है तो आप लिख सकते है “५०० कस्टमर्स द्वारा प्रमाणित”
या फिर आप ऐसा कुछ भी लिख सकते है “पहले ५० कस्टमर्स हेतु २०% डिस्काउंट”

अपने प्रतियोगियों के टाइटल टैग्स को देखें एवं उनसे कुछ अलग और बेहतर करने की कोशिश करें।

11:  अपनी वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा वेब फॉर्म डालें 

CRO अथवा Conversion Rate Optimization का अर्थ होता है,  वेबसाइट को ज्यादा से ज्यादा conversions के लिए optimize करना। इसका सीधा मतलब यह है कि अगर हम अपनी वेबसाइट के माध्यम से कोई प्रोडक्ट, सर्विस अथवा सब्सक्रिप्शन बेच रहे है तो यूसर्स से सीधे उनको खरीदने की बात करें (call to action) एवं वेब फॉर्म के माध्यम से यूसर्स का नाम एवं ईमेल प्राप्त करे।

नई वेबसाइट के लिए Conversion Rate Optimization काफी महत्वपूर्ण होता है।

12: अपनी इमेज साइज घटाएं

फोटोशॉप या अन्य किसी ऑनलाइन टूल के माध्यम से अपनी इमेज साइज घटाएं। png फॉर्मेट का उपयोग कभी न करे। इमेज की साइज को हमेशा 300KB के नीचे रखने का प्रयास करें।

13: ज्यादा ट्रैफिक पाने के लिए ज्यादा गेस्ट पोस्ट लिखें 

नई वेबसाइट पर जल्द से जल्द ज्यादा ट्रैफिक लाने के लिए यह एक बेहद  कारगर तरीका है। अपने विषय से सम्बंधित ब्लॉग पर जाकर उत्तम क्वालिटी के गेस्ट पोस्ट लिखने से आपके वेबसाइट ट्रैफिक में तुरंत बढ़ोतरी होगी। इस ट्रैफिक की क्वालिटी भी काफी अच्छी होगी क्योंकि ये आपके विषय से सम्बंधित है।

14: प्रश्न एवं उत्तर के फॉर्मेट में कंटेंट लिखैं 

न केवल गूगल वौइस् सर्च (Google Voice Search) के लिए, पर प्रश्नों के उत्तर यूसर्स को भी काफी हद तक आपकी वेबसाइट पर आकर्षित करेंगे।

जब आप अपनी वेबसाइट अथवा ब्लॉग पर अपने विषय से सम्बंधित काफी सारे प्रश्नों के उत्तर देते है तो आपको गूगल एक अथॉरिटी के रूप में देख कर प्राथमिकता प्रदान करता है।

15: अपने कंटेंट को यूसर्स के लिए मनोरंजक बनाएं 

इन्फोग्राफिक, वीडियो एवं इमेज की सहायता से अपने कंटेंट को यूसर्स के लिए ज्यादा मनोरंजक बनाएं। अगर आप केवल टेक्स्ट (text) लिखेंगे तो यूसर्स जल्दी ही ऊब जाएंगे।

16: वीडियो का उपयोग 

सन २०२१ तक ८४% ट्रैफिक वीडियो से सम्बंधित होगा। यूसर्स कंटेंट पढ़ने की बजाय वीडियो देखना ज्यादा पसंद करते है। अतः अपने ब्लॉग पोस्ट अथवा वेबसाइट में लिखे हुए कंटेंट को वीडियो के माध्यम से प्रस्तुत करने से यूसर्स ज्यादा समय आपके वेबसाइट पर रहेंगे।

वीडियो बनाने हेतु आप fiverr.com जैसी वेबसाइट की सहायता भी ले सकते है।

17: SSL Certifcate 

अगर आपकी वेबसाइट https:// पर नहीं है तो आज ही अपने होस्टिंग कंपनी से संपर्क कर SSL Certificate इनस्टॉल करे। गूगल http पर एक्सेस होने वाली वेबसाइट पर “non secure” सन्देश दिखाता जो आपकी वेबसाइट की विश्वसनीयता के लिए अच्छा नहीं है। इसके अलावा अगर वेबसाइट सिक्योर नहीं है तो इसका असर रैंकिंग पर भी पड़ता है।

18: आतंरिक लिंक्स (Internal Linking)

गूगल का सर्च स्पाइडर आपकी वेबसाइट पर एक पेज से दूसरे पेज पर आतंरिक लिंक्स के माध्यम से जाता है। अगर आपने अपने वेब पेजों को आतंरिक लिंक्स के माध्यम से कनेक्ट नहीं किया है तो वह वेबसाइट के संगठन (organization) को नहीं समझ सकता।

इसके अलावा आंतरिक लिंक्स के माध्यम से यूसर्स को किसी एक विषय के बारे में पढ़ते समय दूसरे विषय पर आसानी से जा सकते है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि वे आपकी वेबसाइट पर ज्यादा समय (Dwell Time) बिताएंगे।

19: अपने URL में कीवर्ड का उपयोग 

अपने ब्लॉग पोस्ट के विषय का अपने यूआरएल में कीवर्ड  के रूप में जरूर उपयोग करें। इससे आपको सर्च रैंकिंग में काफी फ़ायदा मिलेगा।

आशा है दोस्तों आप इन टिप्स का उपयोग कर अपनी वेबसाइट पर ज्यादा ट्रैफिक लाएंगे।

 

Lokesh Magarde
Lokesh Magardehttps://www.seoexpertindia.biz/
Lokesh Magarde is a Digital Marketer, Web Developer and blogger. Expertise in SEO and WordPress. He has more than 8 years of experience in SEO and Digital Marketing. He is a sensitive bit emotional, honest, trustworthy, innovative professional. Believe in learning always, motivate fresh talent and believe in teamwork. Passionate about blogging and sharing useful information with all, also help others to share ideas on how to earn money online easily.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

Clicking Here on GUEST BLOGGERS WANTED
John Doe on TieLabs White T-shirt